कला-संस्कृतिकविताबिहारभाषा-साहित्य

नारी पत्थर नहीं – डॉ शेफालिका वर्मा

कविता

डॉ शेफालिका वर्मा

नारी पत्थर की देवता नही
जो पूजे जाते हैं
कहीं भी चंदन रोली लगा
मंत्र बुदबुदा देते हैं
पूजा हो गयी तुम्हारी —

तुम समझते क्यों नही
वो पूजने वाली देवी नही
तुम्हारे बगल में खड़ी
तुम्हे जन्म देने वाली माँ है
तुम्हारी कलाइयों में राखी की शक्ति है
तुम्हारे कदम से कदम मिला सुख दुःख में
चलनेवाली तुम्हारी संगिनी है
तुम्हारे चेहरे पे मुस्कान भरने वाली
तुम्हारी दोस्त है
अगर दिल होता है तो
तुम्हारी ही तरह उसे भी
दिल है —–

यह भी पढ़ें  किसानो की मांग जायज,जायज मांगों के समर्थन में होगा चरणवद्ध आंदोलन- किसान महासभा
Gaam Ghar

जिस दिन इतनी समझ आ जाये
ये समाज सत्यं शिवं
सुंदरम बन जाये
मेरा देश वाकई महान बन जाये !!!

डॉ शेफालिका वर्मा, डॉ मुखर्जी नगर, दिल्ली.

अगर आप साहित्यकार हैं तो आप भी अपनी अप्रकाशित रचनाएँ हमें भेज सकते हैं
अपनी रचनाएँ हमें ईमेल करें : gaamgharnews@gmail.com
या व्हाट्सप्प करें: +919523455849
अपने प्रतिष्ठान विज्ञापन फ़िल्म बनाने के लिए या डिजिटली प्रोमोट करने के लिए हमसे संपर्क करें – +917903898006

Gaam Ghar

Editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button