समाचार

भारत सरकार का एक्‍शन 18 OTT प्‍लेटफॉर्म्‍स ब्‍लॉक, देखें लिस्‍ट

अश्‍लील सीरीज दिखाने वाले 19 वेबसाइट्स, 10 ऐप्स और 57 सोशल मीडिया हैंडल्स को देशभर में ब्लॉक कर दिया गया है

Story Highlights
  • 18 OTT प्‍लेटफॉर्म्‍स को किया गया BLOCK

18 OTT Platforms Block : भारत सरकार (Indian Government) ने अश्लीेल वेब सीरीज और फिल्मेंख द‍िखाने वाले OTT प्लेबटफॉर्म्सा पर बड़ा एक्शनन लिया है। सूचना एवं प्रसारण मंंत्रालय ने ऐसे 18 OTT प्लेफटफॉर्म्सक (18 OTT platforms), उनसे जुड़े 19 वेबसाइट, 19 ऐप और 57 सोशल मीडिया हैंडल्सत को ब्लॉ क (Blocks) कर दिया है। इन प्ले्टफॉर्म्सा (platforms) को कई बार चेतावनी दी गई थी। सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम, भारतीय दंड संहिता और महिलाओं का अश्लील प्रतिनिधित्व (निषेध) अधिनियम के उल्लंघन के लिए विभिन्न मध्यस्थों के समन्वय से कार्रवाई की गई है। मंत्रालय ने कहा कि अवरुद्ध किए गए ऐप्स में से सात Google Play Store पर होस्ट किए गए थे, जबकि तीन Apple ऐप स्टोर पर थे। Netflix, Amazon Prime Video और Apple TV+ कंटेंट एक्सेसिबिलिटी के मामले में बेहतर हैं।

यह भी पढ़ें  संयुक्त सचिव संजीव शंकर ने आकाशवाणी का किया निरीक्षण

केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री (Minister of Information and Broadcasting of India) अनुराग सिंह ठाकुर (Anurag Thakur) ने बार-बार ‘रचनात्मक अभिव्यक्ति’ की आड़ में अश्लीलता, अश्लीलता और दुर्व्यवहार का प्रचार न करने के लिए प्लेटफार्मों की जिम्मेदारी पर जोर दिया है। 12 मार्च, 2024 को, श्री ठाकुर ने घोषणा की कि अश्लील और अश्लील सामग्री प्रकाशित करने वाले 18 ओटीटी प्लेटफार्मों को हटा दिया गया है।

इन 18 OTT प्‍लेटफॉर्म्‍स को किया गया BLOCK

Dreams Films Voovi Yessma
Uncut Adda Tri Flicks X Prime
Neon X VIP Besharams Hunters
Rabbit Xtramood Nuefliks
MoodX Mojflix Hot Shots VIP
Fugi Chikooflix Prime Play
यह भी पढ़ें  गोल्डी यादव और निकिता भारद्वाज का होली सांग 'देवरा के रंग' रिलीज

इन प्लेटफार्म्‍स पर होस्ट किए गए कॉन्‍टेंट का एक बड़ा हिस्सा अश्लील, आपत्तिजनक और महिलाओं के लिए अपमानजनक पाया गया। इनमें न्‍यूडिटी (नग्नता) और सेक्‍स सीन्‍स दिखाए गए हैं। कई वेब सीरीज में टीचर और उसकी स्‍टूडेंट के बीच संबंध, पारिवारिक रिश्तों में भी सेक्‍स संबंध जैसी चीजें दिखाई गई हैं। जांच में इन कॉन्‍टेंट को आईटी अधिनियम की धारा 67 और 67A, आईपीसी की धारा 292 और महिलाओं के अश्लील प्रतिनिधित्व (निषेध) अधिनियम, 1986 की धारा 4 का उल्लंघन माना गया।

ओटीटी ऐप्स में से एक ने Google Play Store पर 1 करोड़ से अधिक डाउनलोड दर्ज किए थे, जबकि दो अन्य के 50 लाख से अधिक डाउनलोड थे। “इसके अतिरिक्त, इन ओटीटी प्लेटफार्मों ने दर्शकों को अपनी वेबसाइटों और ऐप्स पर आकर्षित करने के उद्देश्य से ट्रेलरों, विशिष्ट दृश्यों और बाहरी लिंक को प्रसारित करने के लिए बड़े पैमाने पर सोशल मीडिया का उपयोग किया। सोशल मीडिया अकाउंट्स पर कुल मिलाकर 32 लाख से अधिक उपयोगकर्ता फॉलोअर्स थे।” सोशल मीडिया अकाउंट फेसबुक (12), इंस्टाग्राम (17), एक्स (16), और यूट्यूब (12) पर थे।

यह भी पढ़ें  मास्क टीवी ओ टी टी प्लेटफ़ॉर्म यूज़र्स के लिए क्लासिक और लोकप्रिय नयेपन का कॉम्बो लाया है: अंजू भट्ट

OTT के सेल्फल रेगुलेशन पर है जोर
सरकार का कहना है कि आईटी नियम, 2021 के तहत OTT प्लेनटफॉर्म्सा को स्व‍-नियमन यानी सेल्फट रेगुलेशन पर जोर दिया गया। लेकिन लगातार मिल रही श‍िकायतों, कई बार चेतावनी दिए जाने के बाद भी लगातार नियम उल्लंवघन को देखते हुए ये फैसला लेना जरूरी था।

Gaam Ghar News Desk

गाम घर न्यूज़ डेस्क के साथ भारत और दुनिया भर से नवीनतम ब्रेकिंग न्यूज़ और विकास पर नज़र रखें। राजनीति, एंटरटेनमेंट और नीतियों से लेकर अर्थव्यवस्था और पर्यावरण तक, स्थानीय मुद्दों से लेकर राष्ट्रीय घटनाओं और वैश्विक मामलों तक, हमने आपको कवर किया है। Follow the latest breaking news and developments from India and around the world with Gaam Ghar' newsdesk. From politics , entertainment and policies to the economy and the environment, from local issues to national events and global affairs, we've got you covered.

Related Articles

One Comment

  1. अच्छा किया ऐसे ऐसे ott platform को बंद कर के बहुत सही

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button