Digitalअंतर्राष्ट्रीय समाचारकला-संस्कृतिमनोरंजनराष्ट्रीय समाचारसमाचार

इन्फ्लुएंसर बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स विजेता फिल्म संपादक और निर्देशक – एन मंडल

Influencer book of world records Winning Film Editor and Director N Mandal

N Mandal
इन्फ्लुएंसर बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के चीफ एडिटर जयेश भट्ट के हाथों सम्मानित होते हुए – फिल्म निर्देशक एन मंडल.

अनोखी उपलब्धि: युवा फिल्म संपादक, निर्देशक और निर्माता एन मंडल ने इन्फ्लुएंसर बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में अपना नाम दर्ज कराया, 2023 का पहला विश्व रिकॉर्ड। एन मंडल भारत से फिल्म निर्माण और उद्यमिता के क्षेत्र में सबसे प्रसिद्ध नाम हैं। उनकी इनोवेटिव पहलों ने उन्हें चारों ओर से प्रशंसा दिलाई है।

फिल्म निर्माण के प्रति उनके आजीवन जुनून ने उन्हें शिवाय प्रोडक्शंस और साइनसिने फिल्म फेस्टिवल की शुरुआत करने के लिए प्रेरित किया, जहां युवाओं को अपना कौशल दिखाने के लिए एक मंच दिया जाता है। पूरे भारत में फिल्म निर्देशन के साथ-साथ सामाजिक गतिविधियों के लिए जाने जाते है, उन्होंने क्षेत्रीय फिल्मों और भारतीय टेलीविजन धारावाहिकों सहित विभिन्न परियोजनाओं पर अपनी सेवाओं और प्रभाव के माध्यम से समाज, राष्ट्र और मानवता के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

एन मंडल ने कहा, फिल्म निर्माण हर चीज का सार है – चाहे परिस्थिति कैसी भी हो, मैं कभी हार नहीं मानता और अपना काम पूरी ईमानदारी से करता रहता हूं, अगर आप अपना काम पूरी ईमानदारी से करेंगे तो आपको सफलता जरूर मिलेगी।

यह भी पढ़ें  "मैथिली सिनेमाक इतिहास" नामक किताब में युवा फ़िल्म निर्देशक एन मंडल की चर्चा
Advertisement
Advertisement

भगवान ने ब्रह्मांड का निर्माण किया, और मानव जीवन को भी सौंदर्यपूर्ण तरीके से चित्रित करने की आवश्यकता है। वह फिल्म निर्माण के शास्त्रीय ज्ञान में विश्वास करते हैं जिसका सामान्य रूप से समाज पर सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

Advertisement

एन मंडल का मानना है कि जिस समाज में शिक्षा और कला का व्यापक प्रसार होगा, वहां हिंसा और सामाजिक असंतुलन की घटनाएं कम होंगी और धीरे-धीरे ख़त्म हो जाएंगी. हमें उज्जवल भविष्य के लिए अतीत और वर्तमान में से सर्वश्रेष्ठ को जोड़ने की जरूरत है। उनका दृष्टिकोण इस अनुशासन से जुड़ी गलत सूचनाओं और मिथकों को दूर करना और फिल्म निर्माण के क्षेत्र में जांच द्वारा मान्य अधिक अनुभवजन्य और ‘अनुभवात्मक ज्ञान’ को सामने लाना है।

यह भी पढ़ें  मारपीट मामले का आरोपी गिरफ्तार
MithiBhoj
Advertising

फिल्म निर्माण में अपनी रुचि के बारे में बात करते हुए, श्री एन मंडल ने कहा, “मेरा मिशन लोगों को उनके जीवन की योजना बनाने में सहायता करना और अपनी विशेषज्ञता की मदद से सभी प्रकार की समस्याओं का समाधान प्रदान करना है। मैं लगभग 15 वर्षों से इसका अभ्यास कर रहा हूँ। जब मैं देखता हूं कि फिल्म निर्माण में मेरे ज्ञान से मेरे दोस्तों, रिश्तेदारों, परिचितों और ग्राहकों को लाभ हो रहा है तो मुझे बहुत संतुष्टि मिलती है।”

यह भी पढ़ें  Dashmi : ''दशमी'' उलझी एक से दृश्य में
advertisement
Advertisement

एन मंडल ने कहा कि मेरी छोटी सी डॉक्यूमेंट्री फिल्म लोक आस्था का महापर्व छठ है, जो एक मिनट दस सेकेंड की है, इसकी स्क्रिप्टिंग, शूटिंग, एडिटिंग सात घंटे के अंदर हो गयी और इसे यूट्यूब पर अपलोड भी कर दिया गया, कुछ फुटेज इंटरनेट से लिया गया है. मेरे मित्र अशोक अश्क, जो एक लेखक हैं, उनका बहुत बड़ा योगदान था।

भारतीय सांस्कृतिक रीति-रिवाजों पर कई लघु फिल्मों और वृत्तचित्रों के माध्यम से विश्व शांति और मानवता के अच्छे संदेश भेजने के अपने प्रयासों के लिए एन मंडल को इन्फ्लुएंसर बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में जगह मिली है। एन मंडल इस उपलब्धि का श्रेय अपने माता-पिता, भाई, दोस्त और पत्नी भगवान दाई देवी को देते हैं.

Gaam Ghar

Editor

Related Articles

Back to top button