बिहारसमाचार

पोषण पखवाड़ा 2023 का आज 11वां दिन, तीन अप्रैल तक चलेगा अभियान 

छह वर्ष तक के बच्चों के पोषण में सुधार पर दिया जा रहा बल

Patna: कुपोषण एवं एनीमिया के स्तर में कमी लाने के उद्देश्य से वर्ष 2018 से पोषण अभियान का संचालन किया जा रहा है। व्यक्तिगत एवं समुदाय स्तर पर स्वास्थ्य एवं पोषण संबंधित व्यवहार परिवर्तन पोषण अभियान एक मुख्य उद्देश्य है। उक्त उद्देश्य के अनुश्रवण हेतु जनआंदोलन गतिविधि अंतर्गत प्रतिवर्ष विभिन्न विभागों के साथ समन्वय करते हुए पोषण पखवाड़ा का आयोजन मार्च एवं अप्रैल में किया जाता है। भारत सरकार महिला एवं बाल विकास विभाग के निर्देशानुसार इस वर्ष भी 20 मार्च से 03 अप्रैल 2023 तक पोषण पखवाड़ा का आयोजन किया जा रहा है। आज 11वां दिन राज्य में विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किय जा रहा है जिसमे बच्चों का वृद्धि निगरानी, गृह भ्रमण, गोद भराई, अन्नप्राशन, एवं मिलेट्स से होने वाले लाभ के बारे में नुक्कड़ नाटक एवं जन समुदाय के बीच गतिविधियों का आयोजन कर जन जागरूकता किया जा रहा है l

यह भी पढ़ें  OTT की रानी हैं ये एक्ट्रेस लोगों को अपना दीवाना बना लेती है

संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा वर्ष 2023 को इंटरनेशनल ईयर ऑफ मिलेट्स घोषित किया गया है। पूरक पोषण आहार कार्यक्रम अंतर्गत आंगनबाड़ी केन्द्रों के माध्मय से मिलेट्स आधारित व्यंजन प्रदाय किया जा रहा है। इस वर्ष पोषण पखवाड़ा आयोजन अंतर्गत मिलेट्स संबंधी पौष्टिक लाभ हेतु जनजागरूकता लाया जाना है। स्वस्थ्य बालक बालिका स्पर्धा का आयोजन करते हुए लक्षित बच्चों के ऊचाई एवं वजन मापन को प्राथमिकता देना है तथा आंगनबाड़ी के प्रति जनसमुदाय को जागरूक करना है। पोषण पखवाड़ा 2023 के दौरान मुख्य रूप से निम्नानुसार थीम पर गतिविधियों आयोजित की जानी है। पोषण कल्याण के लिए श्री अन्न/मिलेट्स का प्रचार-प्रसार और लोकप्रियता। स्वस्थ बालक/बालिका स्पर्धा। आंगनबाड़ी केन्द्र संबंधित प्रचार-प्रसार किया जाना है।

यह भी पढ़ें  जिला अस्पताल स्थापना दिवस पर सदर अस्पताल में हुआ रक्तदान शिविर का आयोजन

पोषण पखवाड़ा प्रतिदिन आयोजित किए जाने वाली गतिविधि कैलेण्डर एवं सहयोगी विभागों के कार्यदायत्वि प्रदाय किया गया है। पोषण पखवाड़ा के प्रभावी सुचारू एवं परिणाममूलक आयोजन एवं गतिविधियों के आयोजन में सम्मानीय जनप्रतिनिधियों, पंचायत राज संस्थाओं के प्रतिनिधियों, स्थानीय निकाय के प्रतिनिधि, सहयोगी विभागों, स्वयंसेवी संस्थाओं, सार्वजनिक एवं निजी क्षेत्रों की सक्रिय भागीदारी, महिला स्व सहायता समूहों, महिला मण्डली, नेहरू युवा केन्द्रों, राष्ट्रीय केडिट कोर, राष्ट्रीय सेवा योजना आदि की सक्रिय भागीदारी है।

यह भी पढ़ें  चैती दुर्गा पूजा को लेकर प्रतिदिन कीर्तन भजन सत्संग व सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित 

 

Gaam Ghar

Editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button