बिहारराजनीतिसमाचार

RJD के लोग सरकार में कमाई कर रहे थे, विधायकों को लाखों-लाख दे रहे थे – CM नीतीश

CM नीतीश का बड़ा खुलासा हमको सब पता चल गया है, सबकी जांच कराएंगे

Patna : बिहार विधानसभा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विश्वास प्रस्ताव पर अपना पक्ष रखा. इसके बाद सदन में विश्वात मत पर मत विभाजन हुआ. विश्वास मत के समर्थन में जहां 130 विधायक खड़े हुए, वहीं विपक्ष में एक भी विधायक का समर्थन नहीं मिला. क्यों कि सदन में सीएम नीतीश के बोलने के दौरान ही महागठबंधन के साऱे विधायक वाकआउट कर गए थे. इस तरह से नीतीश सरकार ने विश्वास मत हासिल कर लिया.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि हम किसी के खिलाफ नहीं हैं. सबको साथ लेकर चलेंगे. हम राजद के लोगों को इज्जत दे रहे थे,लेकिन हमें पता चला कि ये लोग कमा रहे हैं. यह अच्छा नहीं है. तेजस्वी पर हमला बोलते हुए कहा कि ये सब विभाग एक ही जगह रखे हुए थे. पता चला कि हमारे विधायकों को तोड़ने के लिए मोटा पैसा दिया जा रहा था. हमको सब पता चल गया है. हम सबकी जांच कराएँगे,आखिर इतना पैसा कहां से आया. हम सब पता लगाएंगे.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आगे कहा कि हमने इनको दो बार मौका दिया.इनके मां-बाप को बिहार में 15 साल मौका मिला, लेकिन क्या किया. मेरी आइडिया को ही सबने अपनाया. भाजपा हो या आरजेडी, सब लोगों ने स्वीकार किया. साथ निश्चय किसकी आइडिया थी. वह मेरी आइडिया थी. जब यह लोग साथ थे तो हमने देखा कि लोग बढ़िया से काम नहीं कर रहे थे. इसके बाद हम अलग हो गए .

यह भी पढ़ें  किशनगंज में घर में अकेला पाकर चाचा ने किया 11 साल की मासूम की रेप

अभी आप क्लेम कर रहे हैं कि साथ निश्चय आप ही कर लिए हैं, इतने बड़े पैमाने पर जो नियुक्ति हुई वो आपने किया है ? भला बताइए…शिक्षा विभाग के मंत्री कौन थे. तब विजय चौधरी शिक्षा मंत्री थे. कांग्रेस को भी एक बार शिक्षा विभाग दिए थे लेकिन गड़बड़ नहीं किया था .राजद को शिक्षा विभाग दिए तो लोग गड़बड़ करने लगा. हर बार-बार रोकते थे इसलिए इस तरह की बात मत करिए.

यह भी पढ़ें  तारा देवी के निधन पर शोकसभा आयोजित

विश्वास प्रस्ताव पर बोलते हुए डिप्टी सीएम सम्राट चौधऱी ने लालू परिवार पर बड़ा प्रहार किया. साथ ही जेडीयू-बीजेपी के पांच विधायकों के गायब होने पर अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि इलाज करूंगा. सम्राट चौधरी ने लालू परिवार को भ्रष्टाचार का प्रतीक बताया.सम्राट चौधरी ने आगे कहा कि भ्रष्टाचार का प्रतीक कौन है.. सिर्फ लालू प्रसाद यादव का परिवार है. डेढ़ साल में ही तेजस्वी यादव अरबपति बन गए. लालू जी 15 साल सत्ता में रहे तो चारा खा गए, रेल मंत्री रहे तो रेलवे की नौकरी खा गए. आपकी यही क्वालिटी है .

यह भी पढ़ें  बक्सर में ट्रेन पटरी से उतरी

गलतफहमी में ना रहें. तेजस्वी यादव छोटे भाई हैं, इनको मैं सलाह देता हूं. जिस दिन सरकार बनी तब इन्होंने कहा कि हम खेल कर देंगे. अब यह क्या हुआ… खेल हो गया ना? आपको स्पष्ट तौर पर बताता हूं. पांच विधायक हमारे जो गायब हुए हैं ना.. एक-एक का इलाज करूंगा. कहां-कहां वे रहे, आपके ही एक सदस्य कह रहे थे. पिछले एक सप्ताह से आप लोकतंत्र को लूटने का काम कर रहे थे .आपके विधायक तो सामने से आए और हमारे विधायकों को तो आपने छुपा कर रखा था.

Gaam Ghar

Editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button