समाचार

पूर्णिया: कांग्रेस का नाम, पप्पू की जिद… पढ़े पूरी खवर

पप्पू यादव ने कहा की पूर्णिया में कांग्रेस का झंडा बुलंद होगा

Lok Sabha Election 2024: पूर्णिया में महागठबंधन की चुनावी गतिविधियों में एक नया मोड़ आया है। लालू यादव के द्वारा पूर्णिया सीट पर बीमा भारती (Bima Bharti) को उम्मीदवार घोषित करने के बाद, कांग्रेस की इच्छा के खिलाफ, पप्पू यादव का तगड़ा बयान सामने आया है। पप्पू यादव (Pappu Yadav) के इस बयान के बाद, क्या पूर्णिया में कांग्रेस का झंडा लहराएगा, या पप्पू यादव को निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरना पड़ेगा, यह चुनावी सवालों के आसपास घूम रहा है।

हमारे व्हाट्सएप चैनल को फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें
पप्पू यादव की इस चुनौती के बावजूद, कांग्रेस और लालू यादव के बीच एक फ्रेंडली फाइट की संभावना उभरी है। इस संदर्भ में, बीच से आने वाले गठबंधन के उम्मीदवार की चयन को लेकर गतिरोध भी बढ़ा है। पूर्णिया में कांग्रेस के द्वारा पप्पू यादव को उम्मीदवार घोषित करने की तैयारी थी, लेकिन इसे लेकर गठबंधन के भीतर विवाद उठने के बाद, इस सीट पर क्या होगा, यह देखने वाला नजारा होगा।

गूगल न्यूज़ पर फॉलो करने के लिए यहां क्लिक करें
विशेषज्ञों का मानना है कि इस संघर्ष का नतीजा, पूर्णिया में किसी न किसी तरह की विरोधाभासी चुनावी लड़ाई की ओर जा सकता है। पूर्णिया में इस बात का परिणाम हो सकता है कि किस दल की नीति और चुनावी रणनीति जनता को प्रभावित करती है। जिस दल के उम्मीदवार के प्रति जनता का विश्वास हो, वह दल ही चुनाव में सफल होगा।

यह भी पढ़ें  तृतीय स्नातक स्तरीय संयुक्त प्रतियोगिता परीक्षा (प्रारंभिक) शांतिपूर्ण एवम कदाचारमुक्त वातावरण में सम्पन्न

पूर्णिया में चुनावी महाबाहुमत का संघर्ष तीव्र है, और यहां के चुनावी परिणाम राजनीतिक स्थिरता के लिए महत्वपूर्ण हो सकते हैं। चाहे कोई भी उम्मीदवार हो, पूर्णिया के लोगों की आशाएं और मांगें सुनिश्चित करने के लिए, उम्मीदवारों को गाँवों और शहरों के बीच संवाद को महत्वपूर्ण माना जाएगा।

यह भी पढ़ें  कल्याणपुर चौक पर टायर जलाकर सैकड़ो लोगों ने किया  प्रदर्शन

पूर्णिया में होने वाले चुनाव न केवल इस क्षेत्र के लोगों के लिए महत्वपूर्ण हैं, बल्कि राजनीतिक दलों के लिए भी यह एक बड़ा चुनावी प्रबंध है। इस चुनाव में किस दल का कितना प्रभावी रहेगा, यह देखने है कि चुनावी मैदान में एक बार फिर से ताकत की जंग होगी, जिसमें प्रजातंत्र की बेहतर सेवा के लिए लोग उम्मीदवारों का चयन करेंगे।

यह भी पढ़ें  शिक्षक एवं पूर्व प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी द्वारा जबरदस्ती जमीन घेराबंदी करना

Abhishek Anand

Abhishek Anand, Working with Gaam Ghar News as a author. Abhishek is an all rounder, he can write articles on any beat whether it is entertainment, business, politics and sports, he can deal with it.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
गुस्से में लाल पत्नी को कैसे मनाए.? चैत्र नवरात्रि के नौ दिन 9 रंग के कपड़े पहन कर पूजा करने से बेहद प्रसन्न होंगी मां दुर्गा महिलाएं को भूलकर भी उधार नहीं देना चाहिए राशि के अनुसार इन रंगों से खेलें होली Unmarried Actresses: बिना शादी किए खुशहाल जिंदगी बिता रही हैं ये एक्ट्रेसेस