मध्यप्रदेशराष्ट्रीय समाचारसमाचार

उज्जैन महाकालेश्वर मंदिर में भस्म आरती में सजे बाबा महाकाल

Ujjain: भस्मआरती में सूर्य, चंद्र और चंदन का तिलक लगाकर सजे बाबा महाकाल

Ujjain: उज्जैन के प्रसिद्ध श्री महाकालेश्वर मंदिर में आज, चैत्र कृष्ण प्रतिपदा मंगलवार, भस्म आरती (Bhasma Aarti ) के अद्वितीय अवसर पर विशेष आयोजन किया गया। चार बजे मंदिर के पट खुलते ही, पंडे पुजारी ने गर्भगृह में स्थापित सभी भगवान की प्रतिमाओं का पूजन किया। इसके बाद, भगवान महाकाल का जलाभिषेक पंचामृत से किया गया, जो दूध, दही, घी, शक्कर और फलों के रस से बना था। प्रतिपदा की भस्म आरती में हरि ओम का जल अर्पित किया गया।

इस उत्सव के दौरान, श्री महाकालेश्वर मंदिर के प्रति भक्तों का जोरदार आगमन देखा गया। प्रतिमाओं के श्रृंगार के लिए नवीन मुकुट पहनाया गया और बाबा महाकाल को सूर्य, चंद्र और चंदन का तिलक लगाया गया। इसके बाद बाबा महाकाल के ज्योतिर्लिंग को कपड़े से ढांककर भस्मी रमाई गई और भोग भी लगाया गया। भस्म आरती के दौरान, बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने भगवान महाकाल के इस दिव्य स्वरूप के दर्शन किए और आशीर्वाद प्राप्त किया।

महानिर्वाणी अखाड़े की ओर से भगवान महाकाल को भस्म अर्पित किया गया। इस अवसर पर हजारों श्रद्धालुओं ने उज्जैन महाकालेश्वर मंदिर के दिव्य दर्शनों का लाभ उठाया। मंदिर का परिसर उत्साह और भक्ति से भरा था, जिससे यहां का वातावरण अत्यंत धार्मिक और पवित्र महसूस हो रहा था।

यह भी पढ़ें  खुदनेश्वर स्थान में उमड़ा आस्था का जनसैलाब, पचास हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने किया है जलाभिषेक

यह उत्सव महाकालेश्वर मंदिर के महत्वपूर्ण पर्वों में से एक है और इसकी भव्यता और धार्मिक महत्ता हैं।
श्री महाकालेश्वर मंदिर में आरतियों का नया समय शुरू। उज्जैन के प्रसिद्ध श्री महाकालेश्वर मंदिर में आज से आरतियों का समय परिवर्तित हो गया है। परंपरानुसार, यह समय चैत्र कृष्ण प्रतिपदा से अश्विन पूर्णिमा तक बदलता रहता है। नया समय सुनिश्चित करता है कि भक्तों को धार्मिक अनुष्ठानों के लिए अधिक सुविधा मिले।

यह भी पढ़ें  श्री महाकालेश्वर मंदिर में आरती के दौरान आग लगने से 13 लोगों हुए घायल

प्रथम भस्मार्ती: प्रात: 04:00 से 06:00 बजे तक
द्वितीय दद्योदक आरती: प्रात: 07:00 से 07:45 बजे तक
तृतीय भोग आरती: प्रात: 10:00 से 10:45 बजे तक
चतुर्थ संध्या पूजन: सायं 05:00 से 05:45 बजे तक
पंचम संध्या आरती: सायं 07:00 से 07:45 बजे तक
शयन आरती: रात्रि 10:30 से 11:00 बजे तक

इस समय सारणी में परिवर्तन के बाद, भक्तों को आरतियों के समय का स्पष्टीकरण किया, ताकि वे अपने पूजा-पाठ के आयोजन को अनुकूल रूप से कर सकें। धार्मिक माहौल में इस बदलाव से भक्तों को अधिक आनंद और संतोष का अनुभव होगा।

श्री महाकालेश्वर मंदिर में आया 36,169 का दान
महाकालेश्वर मंदिर के सहायक प्रशासक मूलचंद जूनवाल ने बताया कि उड़ीसा के नवरंगपुर में रहने वाली सौभाग्यवती जैन ने बाबा महाकाल के दर्शन किए और दान में 36169 की राशि दी है। दान राशि देने पर श्री महाकालेश्वर प्रबंध समिति की ओर से सौभाग्यवती जैन और उनके साथ आए अन्य श्रद्धालुओं का सम्मान किया गया। छत्तीसगढ़ के रिंकू शर्मा द्वारा मंदिर के पुरोहित रूपम शर्मा व नवनीत शर्मा की प्रेरणा से एमआई कंपनी का 1 नग एलईडी टीवी (65 इंच) भगवान श्री महाकालेश्वर को अर्पित किया गया। जिसे मंदिर प्रबंध समिति के सहायक प्रशासक प्रतीक द्विवेदी द्वारा प्राप्त कर विधिवत रसीद प्रदान की गई।

यह भी पढ़ें  एक था जोकर का फर्स्ट लुक हुआ आउट

Gaam Ghar News Desk

गाम घर न्यूज़ डेस्क के साथ भारत और दुनिया भर से नवीनतम ब्रेकिंग न्यूज़ और विकास पर नज़र रखें। राजनीति, एंटरटेनमेंट और नीतियों से लेकर अर्थव्यवस्था और पर्यावरण तक, स्थानीय मुद्दों से लेकर राष्ट्रीय घटनाओं और वैश्विक मामलों तक, हमने आपको कवर किया है। Follow the latest breaking news and developments from India and around the world with Gaam Ghar' newsdesk. From politics , entertainment and policies to the economy and the environment, from local issues to national events and global affairs, we've got you covered.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Astrological Tips: पैसे की तंगी से है परेशान इसे पानी में डाल कर करें स्नान Benefits Of Moringa Powder Unmarried Actresses: बिना शादी किए खुशहाल जिंदगी बिता रही हैं ये एक्ट्रेसेस कर्ज के बोझ से हैं परेशान, करें ये आसान उपाय कभी नहीं लेना पड़ेगा उधार गुस्से में लाल पत्नी को कैसे मनाए.?