बिहारसमस्तीपुरसमाचार

जिला के विकाश पर ध्यान दिया समस्तीपुर जिलाधिकारी – योगेन्द्र सिंह

प्रवेश चौधरी की रिपोर्ट

जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह

समस्तीपुर: जिलाधिकारी योगेंद्र सिंह ने पदभार ग्रहण करने के बाद ही जिलाधिकारी के अध्यक्षता में जिला स्थापना प्रशाखा, पेंशन कोषांग, बीपीएसएम कोषांग, जिला जनसंपर्क कार्यालय, जिला भू अर्जन प्रशाखा, जिला परिवहन प्रशाखा, जिला नजारत प्रशाखा, जिला आपदा प्रबंधन प्रशाखा एवं खनन की समीक्षा बैठक की गई।

स्थापना की बैठक

बैठक में स्थापना उप समाहर्ता, गोपनीय प्रभारी पदाधिकारी, स्थापना एवं जनसंपर्क शाखा के सभी लिपिक एवं ऑपरेटर उपस्थित थे। बैठक में स्थापना उप समाहर्ता द्वारा प्रस्तुत प्रतिवेदन की बिंदुवार समीक्षा की गई। समाहरणालय अंतर्गत विभिन्न प्रशाखाओं के पदाधिकारियों एवं कर्मियों के वेतन भुगतान एवं सेवांत लाभ के भुगतान की स्थिति, अनुकंपा की बैठक, स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक, लिपिकों का स्थापना, विभागीय कार्यवाही, राजस्व कर्मचारी का स्थापना, संविदा नियोजन, लंबित सीडब्ल्यूसी/एमजेसी वाद आदि की समीक्षा की गई।

यह भी पढ़ें  नवप्रोन्नत और ट्रेनी DSP को पीपिंग समारोह में सम्मानित

प्रशाखावार निम्नांकित बिंदु पर समीक्षा की गई

1. प्रशाखा में विगत 6 महीने से विभाग से प्राप्त पत्रों का पत्र वार अनुपालन प्रतिवेदन की समीक्षा।
2. प्रशाखावार मासिक प्रगति प्रतिवेदन
3. प्रशाखा में लंबित एसी, डीसी, यूसी, सी डब्ल्यू जे सी/ एम जे सी, पेंशन, रिटायरमेंट बेनिफिट, सेवा शिकायत, लोकायुक्त, मानवाधिकार, आरटीआई, लोक शिकायत, सीपीग्राम डैशबोर्ड, सीएम जनता दरबार से संबंधित मामलों में अनुपालन की स्थिति।
4. पिछले 6 महीने में जनप्रतिनिधि से प्राप्त शिकायत एवं पत्र से संबंधित अनुपालन की स्थिति।
5. विभागीय समिति से संबंधित कार्यवाही के अनुपालन की स्थिति।

यह भी पढ़ें  कामनी हत्याकांड के खिलाफ प्रतिरोध सभा - भाकपा माले

जिला पदाधिकारी द्वारा स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक हेतु तिथि निर्धारण करने का निर्देश जिला गोपनीय शाखा प्रभारी को दिया गया, कर्मियों के विरुद्ध लंबित विभागीय कार्यवाही की समीक्षा की गई एवं उसे अद्यतन करने का निर्देश दिया गया साथ ही जिस स्तर पर कार्रवाई लंबित है उन्हें जिलाधिकारी के स्तर से स्मार करने का निर्देश दिया गया। सी डब्ल्यू जे सी/ एम जे सी वादों के प्रतिवेदन के समीक्षा के उपरांत वैसे वाद जिनमें एसओएफ दायर करने की प्रक्रिया लंबित है उनमें 15 दिन के अंदर एसओएफ तैयार करने का निर्देश दिया गया

यह भी पढ़ें  मुकेश सहनी ने छोड़ दिया सरकारी बंगला

Gaam Ghar

Editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button