कला-संस्कृतिबिहारमधुबनीसमाचार

अन्नपूर्णा सेवा समिति के मुख्य कोर्डिनेटर अमित कुमार राउत को मिला सोशल वर्कर सेवा सम्मान

समाज हित तथा सेवा कार्यों के लिए

मधुबनी: सच्चा कार्य वही हैं, जो समाज के हित को सर्वोपरि बना सके। इसलिए कहा जाता है कि समाज सेवा का मतलब तलवार की धार पर चलने का कार्य और यह कायरों का काम नहीं। जिंदगी में संघर्ष जरूरी हैं। मतलब की दुनिया में कौन किसका सोचता है, जो जैसा देखता है वो वैसा खोजता है। ये बात भले ही सच होगी, लेकिन आज भी दुनिया में ऐसे लोग है, जो अपने मतलब और स्वार्थ को पीछे छोड़ किसी और को खुश करने में जी जान से लगे हुए है। हम बात कर रहे है माँ अन्नपूर्णा सेवा समिति की, जो न केवल किसी के चेहरे पर मुस्कान लाने का काम करती है, बल्कि किसी भी इंसान की जान बचने के लिए जहां तक कोशिश की जा सकती है। वहां तक उसका साथ नि:स्वार्थ भाव से देती है। रक्तदान करवाना, किसी गरीब का इलाज करवाना, किसी की पढाई में पैसे लगाना, किसी की छोटी से छोटी और बड़ी से बड़ी जरुरत को पूरा करना इत्यादि।
इसी कड़ी में मधुबनी नगर के एक निजी विवाह भवन के सभागार में जी. एस. फाउंडेशन के द्वारा समाजसेवी एवं सामाजिक एवं रक्तदान के क्षेत्र में अग्रणी भूमिका में रहे लोग या संस्थाओं को सोशल वर्कर सेवा सम्मान से सम्मानित किया गया। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता जी. एस. फाउंडेशन के अध्यक्ष धीरज कुमार ने किया। इस अवसर पर मधुबनी मे सेवा कार्यों मे अग्रणी रहने वाले लोग या संस्थानों को सोशल वर्कर सेवा सम्मान से नवाज़ा गया। इसी कड़ी मे मधुबनी जिले के जयनगर की अग्रणी सामाजिक संस्थान माँ अन्नपूर्णा सेवा समिति के मुख्य कोर्डिनेटर अमित कुमार राउत को उनके अतिविशिष्ट सेवा एवं उत्कृष्ट कार्य हेतु सोशल वर्कर सेवा सम्मान से मधुबनी जिप अध्यक्षा बिंदु गुलाब यादव ने सम्मानित किया।
बता दें कि पिछले लगभग तीन वर्षों से जयनगर रेलवे स्टेशन परिसर एवं इसके सामने पुराना नगर पंचायत परिसर में एक नियत समय शाम को सात बजे लंगर लगा कर रोज लगभग एक सौ लोगों को भर पेट पौष्टिक भोजन संस्था के सदस्यों के द्वारा श्रमदान कर करवाया जाता है। इसके अलावा इनके मुख्य संस्था माँ अन्नपूर्णा सेवा समिति के द्वारा विभिन्न समयों पर कई सामाजिक कार्य करती रहती है। बाढ़ के समय राहत कार्य कर लोगों के बीच राहत सामग्रियों का वितरण, तो ठंड में गर्म कपड़े, शॉल, कम्बल का वितरण, तो कभी निःशुल्क मेडिकल कैम्प लगा कर निःशुल्क परामर्श के साथ दवा वितरण, तो निःशुल्क बीपी एवं ब्लड सुगर जांच शिविर, तो कभी चिन्हित कर नगद मदद करना, तो कभी अन्यान्य।
इन्हीं विशेष सेवाओं के कारण आज इन्हें इनके टीम सहित सोशल वर्कर सेवा सम्मान से सम्मानित किया गया। इन सभी को परंपरा अनुसार माला और दोपट्टा से सम्मानित किया गया। इसके अलावा मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर संस्था के अमित कुमार राउत, गौरव जोशी, आलोक झा, बिट्टू कुमार मौजूद रहे। इस मौके पर संस्था के मुख्य संयोजक अमित कुमार राउत ने जी. एस. फाउंडेशन द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में भी शिरकत किया। इस मौके पर उन्होंने जी. एस. फाउंडेशन का आभार जताया, और कहा कि ऐसे सम्मान ने उनका मनोबल बढ़ता है। इसलिए जो लोग समाज सेवा में अपना मूल्यवान समय दे रहें हैं, उन लोगों को तन,मन और धन से सहयोग देकर समाज के अच्छे कार्यो को आगे बढ़ाएं। माँ अन्नपूर्णा सेवा समिति के मुख्य संयोजक समाजसेवी भाई अमित कुमार राउत ने बताया की हमारी इस संस्था का एक मात्र उदेश्य है कि समाज के निराश्रित एवं अंतिम पंक्ति के व्यक्ति को भी वह सुख सुविधाएँ पहुंचाने का प्रयास करना है, जिनसे अभी तक यह अछूता है। इन्ही बातों को आत्मसात करते हुए सभी के सहयोग से कोरोना महामारी के चलते आयी इस विकट परिस्थिति में भी हर जरूरतमंदों की हर सम्भव मदद करने का प्रयास संस्था द्वारा विगत 3वर्षों से किया जा रहा है।
उन्होने बताया की संस्था न केवल जयनगर, बल्कि आसपास के अलावा पडोसी देश नेपाल के भी कई क्षेत्र शामिल हैं। जनसहयोग से सम्पूर्ण हुआ इस आयोजन के माध्यम से आश्रित व जरूरतमंद परिवारों को मुख्य धारा से जोड़ना, यही संस्था का मुख्य उद्देश्य है।
उन्होंने बताया कि माँ अन्नपूर्णा सेवा समिति का उद्देश्य हैं कि जयनगर नगर में कोई भी व्यक्ति भोजन के लिए दर-दर न भटके तथा हर जरूरत मंद लोंगो को सरलता से भोजन उपलब्ध हो जाएं। वहीँ, 43बार रक्तदान कर चुके समाज सेवा में अपनी सक्रिय भूमिका निभाने वाले सुमित कुमार राउत कहते हैं कि कोरोना संकट से शुरू हुआ माँ अन्नपूर्णा कम्युनिटी अन्नपूर्णा किचन अब हर गरीब और असहाय लोगो की भूख मिटा रहा हैं। अब माँ अन्नपूर्णा कम्युनिटी किचन की ओर से नई पहल करते हुए नगर के लोगो को जागरूक और अपील किया जा रहा हैं कि जन्म दिन हो या पूण्य तिथि, शादी की सालगिरह हो या कभी कुछ और शुभ कार्य व्यर्थ खर्च करने के बजाय आप जरूरतमंद लोगो के लिए भोजन की सुनिश्चित व्यवस्था करें, ताकि सभी लोग इनकी मदद के लिए आगे आ जाय। कोरोना काल के समय हुए लॉक डाउन से ही लोगो को अनवरत भोजन समिति द्वारा उपलब्ध कराई जा रही हैं।
बता दें की माँ अन्नपूर्णा कम्युनिटी किचेन के पदाधिकारियों एवं सदस्यों के अथक प्रयास करने के कारण यह समिति दिन-हू-दिन उचाईयों और प्रगति की ओर बढ़ रहें हैं, जिसकी चर्चा मधुबनी जिला ही नही बल्कि पूरे बिहार सहित नेपाल में भी होने लगी हैं।
यहाँ बताते चले कि जयनगर के युवाओं ने तीन वर्ष पूर्व कोरोना संकट के समय से ही माँ अन्नपूर्णा कम्युनिटी किचन की शुरुआत की थी, लेकिन अब धीरे-धीरे इस माँ अन्नपूर्णा कम्युनिटी किचन ने जरूरतमंदों के लिए जयनगर में लंगर लगाकर नि: शुल्क भोजन प्रतिदिन वितरण कर रहें हैं। माँ अन्नपूर्णा कम्युनिटी किचन के जरिए गरीब-भूखे लोंगो को गुणवत्ता युक्त भोजन उपलब्ध कराए जाते हैं।

यह भी पढ़ें  दो शराबी को किया गिरफ्तार भेजा न्यायालय

Gaam Ghar

Editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button