बिजनेसबिहारशिक्षा

कारोबार के लिए मौखिक प्रचार यानी माउथ पब्लिसिटी क्यों महत्वपूर्ण है?

word of Mouth Marketing – N Mandal

व्यापार में मार्केटिंग यानी प्रचार प्रसार की सबसे बहुत जरुरत होती है। मार्केटिंग के बिना कारोबारी द्वारा कोई भी चीज ग्राहक को बेच पाना संभव नहीं होता है। प्रत्येक बड़ी से बड़ी कंपनी अपने प्रोडक्ट को जमकर मार्केटिंग करती है। ताकि ग्राहक की ओर से उसके प्रोडक्ट की मांग हो सके। मांग होने के बाद  कंपनियों को अपना प्रोडक्ट मार्केट में बेचना आसान हो जाता है। छोटे बिजनेस वालों के पास बड़ी कंपनियों की तरह  बजट नहीं होता है। वो अपने बिजनेस को आगे बढ़ाने के लिये थोड़ी बहुत मार्केटिंग करते हैं और देखते हैं कि जितना मार्केटिंग में इन्वेस्ट किया उतना रिस्पांस नहीं मिल रहा है तो वे चुप होकर भाग्य के सहारे बैठ जाते है।

बिना खर्चे की मार्केटिंग कैसे करें?

मार्केटिंग की जरूरत छोटी-बड़ी सभी कंपनियों की होती है। बड़ी कंपनी तो अपने बड़े बजट से मार्केटिंग करके अपना बिजनेस तो चमका लेतीं हैं लेकिन छोटे बिजनेस वालों के समक्ष बजट की समस्या होती है। ये छोटे बिजनेस वाले किस तरह से मार्केटिंग करें कि उनका बिजनेस हो और खर्चा न हो। इसके लिए सबसे पहले हम देखते हैं कि मार्केटिंग के कितने तरीके हो सकते हैं। यानी किन-किन तरीकों से मार्केटिंग करके  बिजनेस को चमकाया जाता है। इनमें से प्रमुख इस प्रकार हैं:-

1. पम्पलेट: प्रोडक्ट और कंपनी के बारे में खूबियों को एक कागज पर आकर्षक डिजाइन में प्रिंट कराकर लोगों को बांटकर प्रचार किया जाता है।

2. पोस्टर: इसमें कंपनी और प्रोडक्ट के बारे में विस्तार से अच्छाइयों व लाभ के बारे में जानकारी दी होती है। इसे मार्केट, कालोनी या जहां आने-जाने वालों संख्या अधिक होती हो वहां पर चिपकाया या लटकाया जाता है।

3. बैनर: इसमें भी प्रचार सामग्री को कपड़े व फ्लैक्स कागज पर प्रिंट करके चौराहे व बाजार के आसपास खम्भों या इमारतों पर लटकाया जाता है।

4. होर्डिंग्स: खम्भों या सड़क के किनारे ऐसी जगह पर लटकाया जाता है जहां पर अधिक से अधिक लोगों की नजर पड़े।

5. कैनोपी: प्रोडक्ट की सारी डिटेल बताने के लिए मार्केट के किनारे या कॉलोनी में एक छोटा सा टेंट लगाकर कंपनी के कर्मचारी प्रोडक्ट के बारे में बताते हैं।

6. मेला व प्रदर्शनी में स्टाल लगाकर प्रचार किया जा सकता है

7. सामाजिक व धार्मिक कार्यक्रम को स्पांसर करके प्रचार किया जाता है

8. वर्कशाप या विचार गोष्ठी को आयोजित करके भी प्रचार होता है

9. ऑनलाइन प्रचार करें

10. सोशल मीडिया के विभिन्न प्लेट फार्म पर प्रचार करें

11. सोशल मीडिया के पेड व अनपेड प्लेटफार्म का इस्तेमाल करें

12. समाचार पत्रों, टीवी चैनलों व एफएम रेडियो पर विज्ञापन देकर प्रचार करें

13. वाल पेंटिंग करवा कर भी प्रचार किया जाता है

प्रचार के इन साधनों का इस्तेमाल करके कोई भी कंपनी अपना प्रचार कर सकती है। इसके अलावा एक और माउथ पब्लिसिटी जिसे मौखिक प्रचार भी कहते हैं। ये ग्राहकों की इच्छा पर भी निर्भर करता है जैसे कोई प्रोडक्ट के अच्छा लगने पर वे अपने सर्किल में उसके बारे में अच्छी रिपोर्ट देकर प्रचार करते हैं। कंपनी को भी इस तरह के प्रचार के लिए अपनी ओर से रणनीति बनानी चाहिए।

माउथ पब्लिसिटी क्या होता हैऔर कैसे काम करता है?

मार्केटिंग की भाषा में इस माउथ पब्लिसिटी को वर्ड आफ माउथ मार्केटिंग (डब्ल्यूओ एमएम) कहते हैं। इस तरह की पब्लिसिटी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक होती है। इसमें विश्वास सबसे बड़ा काम करता है। किसी मित्र या परिवार के सदस्य या रिश्तेदार द्वारा किसी भी प्रोडक्ट या सर्विस की सिफारिश करने से व्यक्ति उस पर तुरन्त भरोसा कर लेता है और उस प्रोडक्ट व सर्विस को आसानी से परचेज भी कर लेता है। मान लीजिये कि आपके घर में अचानक बिजली कोई समस्या आ गयी और आपको उसे रिपेयर कराना है। यदि आपको किसी एक्सपर्ट का नंबर मालूम है तो आप उससे सीधे सम्पर्क करके सर्विस ले सकते हैं। यदि नहीं मालूम है तो आप क्या करेंगे, अपने परिचितों व मित्रों से फोन करके उनसे इलेक्ट्रीशियन के बारे में पूछेंगे। वो आपको अपने सबसे अधिक विश्वस्त व्यक्ति का पता देंगे जो आपको सही सर्विस दे सके। आप अपने मित्र या रिश्तेदार की सिफारिश को बिना कुछ सोचे मान लेंगे और दिये गये पते पर सम्पर्क करके उनसे अपना काम करा लेंगे। उसने काम अच्छा किया तो भविष्य में आप भी किसी दूसरे परिचित जरूरतमंद को इसी तरह उसके नाम की सिफारिश करेंगे। इस तरह ये चेन बढ़ती चली जायेगी। इसी को माउथ पब्लिसिटी कहते हैं।

यह भी पढ़ें  डा. नम्रता आनंद को मिलेगा महादेवी वर्मा स्मृति सम्मान

माउथ पब्लिसिटी दो प्रकार से होती है:-

1. ग्राहकों द्वारा माउथ पब्लिसिटी: इस तरह की पब्लिसिटी ग्राहकों द्वारा किसी प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में अपने अनुभव अपने परिचितों या मित्रों के साथ साझा करने से होती है।

2. व्यापारियों को बनानी होती है माउथ पब्लिसिटी की रणनीति: दूसरी तरह की माउथ पब्लिसिटी व्यापारियों द्वारा बनायी गयी रणनीति के तहत होती है। इसमें व्यापारी ग्राहकों से अपने प्रोडक्ट का फीड बैक लेते हैं और उनके विचारों को अपने मार्केटिंग प्लेटफार्म पर पोस्ट करते हैं। इससे उस प्लेटफार्म पर आने वाले नये ग्राहक को उसके प्रोडक्ट का फीड बैक मिल जाता है। जिससे प्रभावित होकर वह प्रोडक्ट खरीद लेते हैं।

कैसे करें माउथ पब्लिसिटी का अपने बिजनेस में इस्तेमाल?

आप यदि छोटे कारोबारी हैं और आपके पास मार्केटिंग का अच्छा बजट भी नहीं है। इसके बावजूद आप अपने बिजनेस के लिए प्रचार करना चाहते हैं तो आप यह काम अच्छी तरह से कर सकते हैं। आज की दुनिया में प्रत्येक चीज संभव है, बस उसके लिए आपको प्रयास करने की जरूरत है। एक व्यापारिक सर्वे में पता चला है कि 75 प्रतिशत उपभोक्ताओं को बिजनेस के लिए किये जाने वाले विज्ञापनों पर विश्वास नहीं होता है, उन पर शंकायें व्यक्त की जातीं हैं। जबकि 92 प्रतिशत लोग ऐसे भी सर्वे में सामने आये हैं जो अपने मित्रों, रिश्तेदारों व परिचतों की सिफारिश को तत्काल मान लेते हैं। इसलिये माउथ पब्लिसिटी छोटे व्यवसायों के लिए काफी महत्वपूर्ण और फायदेमंद है। इसके लिये आपको क्या करना होगा, उनमें से कुछ खास टिप्स इस प्रकार हैं:-

ऑफलाइन टिप्स

1. अपने खास लोगों से करें शुरुआत

छोटे व्यवसायी को माउथ पब्लिसिटी का काम अपने खास लोगों से ही शुरुआत करना चाहिये। आपके यहां काम करने वाले कर्मचारी आपकी कंपनी को अच्छी तरह से जानते हैं। वे आने वाले ग्राहकों को अपने प्रोडक्ट की खास-खास जानकारी दें और वो इस तरह से बतायें कि ग्राहकों को पूरा भरोसा हो जाये। इसके अलावा ये कर्मचारी अपने मित्रों, रिश्तेदारों व पड़ोसियों को भी कंपनी के प्रोडक्ट के बारे में बतायेंगे तो लोग उनकी बात को अवश्य मानेंगे। इसी तरह से आप अपने रिश्तेदारों, परिचितों व पड़ोसियों के साथ माउथ पब्लिसिटी करेंगे तो उसका आपको लाभ मिलेगा।

2. ग्राहकों से बात करने का मौका तलाशें

आजकल लोग किसी चीज के बारे में सकारात्मक अनुभवों को जानने के इच्छा रखते हैं और वे इस तरह की बात भी करना चाहते हैं। आपको इस बात पर उस समय विशेष ध्यान देना होगा जब आप अपने ग्राहकों को प्रोडक्ट या सर्विस दे रहे हों। उन्हें उस प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में वो चीजें बतायें जो वास्तव में हों और दूसरा कोई बिजनेस मैन नहीं बताता है। इस तरह से जब ग्राहक आपके प्रोडक्ट या सर्विस का इस्तेमाल करेगा और आपके द्वारा बतायी गयीं बातें सही साबित होंगी तो वह आप पर विश्वास करेगा और आपके बारे में अपने पड़ोसियों, रिश्तेदारों व परिचितों को बतायेगा। जो आपके संभावित ग्राहक भी हो सकते हैं।

3. अतिरिक्त प्रयास करें

हमें ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने होंगे। ग्राहकों की पसंद की तारीफ करें। उन्हें अपने उत्पादों के लिए कुछ खास तरह से प्रमोट करें। उन्हें यह विश्वास दिलायें कि आप जो प्रोडक्ट खरीद कर इन्वेस्ट कर रहे हैं, निराश नहीं होंगे। प्रोडक्ट को इस्तेमाल करने के बाद आपको इसकी और जरूरत  पड़ेगी। इससे ग्राहक एक बार थोड़ा विश्वास करेगा लेकिन प्रोडक्ट के इस्तेमाल के बाद आपके पास वापस तो आयेगा ही आयेगा और अपने सर्किल में सभी लोगों को आपके प्रोडक्ट की तारीफ करेगा, जिनमें से कुछ लोग आपके ग्राहक बन सकते हैं।

यह भी पढ़ें  व्यापारी की आँखों मे मिर्च पाउडर झोंककर ढाई लाख की लूट

4. ग्राहकों से फीडबैक लें और सिफारिश करने को कहें

आप अपने ग्राहकों से अपने प्रोडक्ट की फीडबैक लें। जब आपका ग्राहक आपके प्रोडक्ट या सर्विस का इस्तेमाल कर ले तब उससे फीडबैक लेने के लिए उससे सम्पर्क करें। यदि वह आपके प्रोडक्ट की तारीफ करता है तो उससे अवश्य पूछें कि क्या आपने अपने मित्रों, रिश्तेदारों व पड़ोसियों को इस बारे मेंं बताया या नहीं। यदि नहीं तो उससे कहें कि आपके सर्किल में हमारे प्रोडक्ट की आवश्यकता हो तो उनसे एक बार सिफारिश कर दें। इसके बाद आपको यह याद रखना होगा कि जो पुराना ग्राहक आपके प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में सिफारिश करता है तो उसको धन्यवाद कहना न भूलें। अपने इस तरह के ग्राहकों को कुछ छूट या राहत देनी होगी। इस तरह से आप अपने ग्राहकों की संख्या बढ़ा सकते हैं।

ऑनलाइन टिप्स

1. कस्टमर फ्रेंडली वेबसाइट बनवाएं

यदि कोई ग्राहक आपकी वेबसाइट से सम्पर्क करना चाहे और वो समय पर काम न करे या ग्राहकों द्वारा मांगी गई जानकारी उपलब्ध न हो सके तो ग्राहक आपकी वेबसाइट हमेशा के लिए छोड़ देगा। इसलिये आपको किसी एक्सपर्ट प्रोग्रामर से कस्टमर फ्रेंडली वेबसाइट बनवानी होगी। ग्राहक को आपकी वेबसाइट पर संतोषजनक उत्तर मिलेगा और जानकारी मिलेगी तो वह आगे अपने मित्रों को आपकी वेबसाइट के बारे में सिफारिश अवश्य करेगा। दूसरा आपकी वेबसाइट पर बहुत ही आसान और कम समय में जानकारी लेकर वापस जाने की सुविधा होगी तो ग्राहक अवश्य ही सर्च करेंगे। साथ ही खरीददारी करने के प्रक्रिया भी बहुत ही आसान, संक्षित तथा पारदर्शी होनी चाहिये। ताकि ग्राहक आप पर आंख मूंद का भरोसा कर सके। इससे आपके ग्राहकों की संख्या तेजी से बढ़ सकती है।

2. आदान-प्रदान करें

सिफारिश करने के तरीके का दोहरा लाभ भी मिल सकता है। जैसे कोई ग्राहक अच्छी सेवाएं प्रदान करता है और वो बहुत अच्छा काम भी कर रहा है। उसके बारे में आप अधिक से अधिक लोगों को बता सकते हैं। अपने नेटवर्क में उसके प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में बतायें, लोगों को उसका परिचय दें। इस तरह से आप यह निश्चित मानिये कि वो ग्राहक आपके प्रति अहसान मानेगा तथा वो भी इसके बदले में अपने नेटवर्क में आपके प्रोडक्ट या सर्विस का प्रचार करेगा। इस तरह से आपको अच्छा लाभ मिल सकता है।

3. नये ग्राहकों का भरोसा बढ़ायें

यदि कोई नया ग्राहक आपकी वेबसाइट पर आता है और उसे आपके प्रोडक्ट के बारे में कोई भी जानकारी नहीं है। वो आपके ब्रांड और कैसे क्रेडिट दे सकता है। वो आपको क्रेडिट कार्ड नंबर देने से भी परहेज करेगा। उसे डर लगेगा कि अनजान व्यक्ति उसके साथ कोई फरेब न कर दे। ऐसी स्थिति में आपको उसे वो सारे प्रमाण देने होंगे जिससे नये ग्राहक का डर दूर हो जाये। आपको यह काम करना होगा कि अपने उन ग्राहकों का परिचय देना होगा जिन्होंने आपके प्रोडक्ट या सर्विस का इस्तेमाल किया है और उससे वे पूरी तरह से संतुष्ट भी हैं। हो सकता है कि उनमें से कोई उनका परिचित निकल आये तो वह आपस में पूछताछ के बाद आपके प्रोडक्ट या सर्विस को आसानी से ले सके। आप अपना काम समाप्त करने के बाद भी अपने ग्राहकों से सम्पर्क बनाये रखें। इस तरह से आप अपने प्रोडक्ट को ऐसा ब्रांड बनाये जिस पर सभी लोग आसानी से भरोसा कर सकें। तो फिर किसी को अपने शुभचिंतकों से सिफारिश करने में कोई झिझक नहीं होगी।

यह भी पढ़ें  शार्ट सर्किट के कारण लगी आग, 4 घर जलकर हुआ राख

4. सोशल मीडिया का इस्तेमाल करें

छोटे कारोबारियों को अपने ग्राहक संख्या बढ़ाने के लिए सोशल मीडिया का जमकर प्रचार करना चाहिये। कारोबारियों को चाहिये कि सोशल मीडिया के वि•िान्न प्लेटफामों जैसे फेसबुक, इंस्टाग्राम, ट्विटर, लिंक्डइन, पिनरेस्ट आदि में अपने अकाउंट बनाकर बिजनेस पेज बनाये। वहां पर अपनी गतिविधियिां बढ़ायें। इन प्लेटफार्मों पर अपने मित्रों की संख्या बढ़ायें और उन्हें आपसी बातचीत में व्यस्त रखें। थोड़े समय के बाद इन्हीं मित्रों से अपने सर्किल में प्रोडक्ट की सिफारिश करने को कहें। इस तरह से आपके ग्राहकों की संख्या भी तेजी से बढ़ेगी। आपका बिजनेस तो बढ़ेगा और उससे आपकी आय भी बढ़ेगी।

अन्य खास टिप्स

1. अपने प्रभाव का इस्तेमाल करें

आपके सर्किल में कई ऐसे लोग भी हो सकते हैं जिनका समाज में अच्छा प्रभाव हो। समाजसेवी हों, राजनीतिज्ञ हों, व्यापारी हों या अन्य ऐसे लोग हों जिनसे भारी संख्या में लोग जुड़े हों और उनकी हर बात को मानते हों। ऐसे लोगों से आप अपने प्रोडक्ट की सिफारिश करने को कह सकते हैं। वे आपकी मदद कर सकते हैं। इसके अलावा इन प्रभावी लोगों के नाम का आप अपने सोशल मीडिया के प्लेटफार्म और वेबसाइट दोनों जगह कर सकते हैं। उनके प्रभाव से अनेक लोग आपसे जुड़ सकते हैं और आपकी बात को भी मान सकते हैं। इस तरह से ये लोग अपने सर्किल में आपके प्रोडक्ट की सिफारिश कर सकते हैं। माउथ पब्लिसिटी करने का यह तरीका छोटे कारोबारियों के लिए काफी फायदे वाला साबित हो सकता है।

2. फोन कॉल का भी प्रयोग करें

सोशल मीडिया का इस्तेमाल करने के अलावा आप अपने बिजनेस को प्रमोट करने के लिए लोगों से फोन कॉल कर के अपना सम्पर्क बढ़ा सकते हैं। फोन काल करके लोगों के हालचाल पूछने के बाद उनके सर्किल की चर्चा कर सकते हैं। उसके बीच उनसे अपने प्रोडक्ट की सिफािरश करने को कह सकते हैं। एक कॉमर्शियल कंपनी का मुख्य काम लोगों से फोन करके ही ग्राहक तलाशना है। यह कंपनी अपनी इस रणनीति में कामयाब है और उसके ग्राहकों की संख्या काफी तेजी से बढ़ भी रही है। इसलिये छोटे कारोबारियों के लिये यह रणनीति काफी फायदे वाली साबित हो सकती है।

अपने ग्राहकों से सम्बन्ध बढ़ायें

ग्राहकों की संख्या बढ़ाने का एक तरीका ये भी काफी सफल हो सकता है कि आप अपने ग्राहकों से अपने सम्बन्ध प्रगाढ़ करें। आपको फेसबुक के माध्यम से अपने मित्रों व ग्राहकों के जन्मदिन और शादी वाले दिन तथा बच्चे की बर्थडे आदि पारिवारिक कार्यक्रमों  की जानकारी तो मिल ही सकती है। उन तारीखें का ध्यान रखें और इन खास मौकों पर शुभकामनाएं देना न भूलें। सम्बन्ध अधिक घनिष्ठ हो जायें तो कोई छोटा-मोटा गिफ्ट भी ऑफर कर सकते हैं। इसके अलावा आप नये साल पर, होली, दिवाली, ईद, आदि त्यौहारों पर अपने ग्राहकों को शुभकामनाएं देना न भूलें। इसके अलावा किसी ग्राहक या उसके परिवार के सदस्य की बीमारी की खबर मिलने पर उसका हालचाल पूछें। उन्हें मदद की पेशकश करें। इससे आपके संबंध प्रगाढ़ हो जायेंगे।

आपके सम्बन्ध अच्छे होने का परिणाम यह होगा तक आपके ग्राहक आपके व्यवहार से प्रभावित होकर अपने सर्किल में अधिक से अधिक लोगों को आपके प्रोडक्ट या सर्विस की सिफारिश करेंगे। आप कुछ ही समय में इस रणनीति के चौंकाने वाले परिणाम नजर आयेंगे उन्हें देखकर  स्वयं ही आश्चर्यचकित रह जायेंगे। इस तरह से छोटे कारोबारियों के लिए माउथ पब्लिसिटी बहुुत अच्छा विज्ञापन का साधन बन सकता है। बड़ी बड़ी कंपनियां जहां विज्ञापन व प्रचार  प्रसार में बड़े बजट खर्च करती हैं, वहीं आपका यह काम बिना पैसे के ही हो सकता है। उसके लिये छोटे कारोबारियों को तरह-तरह की रणनीति बनानी होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button