Covid-19बिहारसमाचार

आप बिहार में है या बिहार के है तो संभलकर बाहर निकलें

बिहार में कोरोना की तीसरी लहर में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. जिसको लेकर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी की अध्यक्षता में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक हुई. बैठक में बिहार के सभी डीएम और एसपी को कोरोना गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराने के लिए 3 दिनों तक विशेष अभियान चलाने का निर्देश दिया गया है, कड़ाई के साथ पाबंदियों को लागू करें. कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए बिहार सरकार कई सख्त कदम उठाने जा रही है.

बिहार में बढ़ते कोरोना केस को देखते हुए 4 जनवरी से कई सख्त कदम उठाए गए थे, लेकिन वैसी सख्ती देखने को नहीं मिली जैसी की उम्मीद की जा रही थी. सरकार ने पाबंदियों में इजाफा ना करके उसे सख्ती के साथ लागू करने का निर्देश दिया है. मुख्य सचिव आमिर सुबहानी ने कहा है कि कोरोना के केसों को देखते हुए प्रतिबंध को सख्त तरीके से लागू किया जाना आवश्यक है. 3 दिन तक बिहार में सरकार की तरफ से विशेष अभियान चलाया जाएगा.

विशेष अभियान के तहत शहर पर सरकार की नजर ज्यादा सख्त रहेगी. प्रशासन दुकानों, अस्पतालों और अन्य भीड़भाड़ वाली जगहों पर प्रतिबंधों और नियमों की जांच करेगा. अगर कहीं पालन नहीं किया जा रहा है तो वहां पर तत्काल एक्शन भी लिया जाएगा. पटना में इसके लिए वाहन चेकिंग से लेकर मास्क चेकिंग अभियान तक चलाया जाएगा. जिला प्रशासन को यह निर्देश दिया गया है कि वो तत्काल टीम का गठन करें और यह भी सुनिश्चित करें कि हर हाल में जो गाइडलाइन है उसका पालन किया जाए.
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कोरोना पॉजिटिव होने के कारण मुख्य सचिव की अध्यक्षता में ही बैठक हुई. ऐसे हर 2 दिनों के अंतराल पर यह बैठक करने का फैसला लिया गया है. गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर सकते हैं और फिर आगे की रणनीति तैयार होगी. कोरोना संक्रमण और कोविड-19 के नए वेरिएंट- ओमीक्रोन की गंभीरता भांपते हुए देश के विभिन्न हिस्सों में नई पाबंदियां लगाई गई हैं.
बिहार में कोरोना संक्रमण की रफ्तार लगातार बढ़ती जा रही है. स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी ताजा अपडेट के मुताबिक बीते 24 घंटे में 6413 नए संक्रमितों की पहचान हुई है. वर्तमान में प्रदेश में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 28659 है. पटना कोरोना का हॉटस्पॉट बना हुआ है. बिहार में पॉजिटिविटी रेट 3.14% है, वहीं पटना में पॉजिटिविटी रेट 20.65% है. बुधवार को पटना में कोरोना संक्रमण के 2272 मामले सामने आए हैं, जिसमें नए मामलों की संख्या 2182 है और बाकी 90 मामले फॉलोअप के हैं. इनमें पटना जिले के 1912 मामले हैं और 217 मामले अन्य जिलों के हैं, जिनका सैंपल पटना में जांचा गया है.

यह भी पढ़ें  पितृपक्ष विशेषांक "गया गीतिका" का हुआ लोकार्पण

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button