Bollywoodअंतर्राष्ट्रीय समाचारराष्ट्रीय समाचारसमाचार

नहीं रही भारत रत्न लता मंगेशकर

कृष्ण मनु ईश्वर की रिपोर्ट

आखिर जिसका डर था वह हो ही गया, भारत ने अपना मूल्यवान रत्न खो दिया। आज सुर सम्राज्ञी लता मंगेशकर करुणा से जंग हार कर दुनिया को अलविदा कह गई। आज उन्होंने मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में अंतिम सांस ली। लता जी के निधन पर 2 दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है। इस दौरान तिरंगा आधा झुका रहेगा।

लता जी के पार्थिव शरीर को दोपहर 12 बजे लताकुंज स्थित आवास पर ले जाया जाएगा। BMC के PRO तानाजी कांबली ने बताया है कि लता जी का अंतिम संस्कार शिवाजी पार्क स्थित श्मशान में किया जाएगा। 92 साल की लता जी का कोरोना रिपोर्ट 8 जनवरी को पॉजिटिव आया था, जिसके बाद उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया गया। उन्होंने कोरोना और निमोनिया की दोनों बीमारियों की एक साथ 29 दिनों तक जंग लड़ा।

सुबह 8.12 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली
उन्होंने ब्रीच कैंडी अस्पताल के आईसीयू में रखा गया था। लंबे समय से लता जी का इलाज कर रहे डॉक्टर प्रतीत समधानी की देखरेख में डॉक्टर्स की टीम उनका देखरेख कर रही थी। इलाज के दौरान उनकी हेल्थ में सुधार भी देखा जा रहा था। उन्हें लगातार ऑब्जर्वेशन में रखा गया। करीब 5 दिन पहले उनकी सेहत में सुधार आना शुरू हो गया था। ऑक्सीजन निकाल दिया गया था, लेकिन उन्हें आईसीयू में ही रखा गया था, लेकिन रविवार को सुबह 8.12 बजे उनका निधन हो गया।
स्वर कोकिला, दीदी और ताई जैसे नामों से लोकप्रिय लता जी के निधन से पूरे देश में शोक की लहर है। फैंस उनके ठीक होने की दुआ कर रहे थे लेकिन आज इस बुरी खबर से करोड़ों संगीत प्रेमियों का दिल टूट गया।

यह भी पढ़ें  डॉक्टरेट मानद उपाधि सम्मान से नवाजे गए सुमन वृक्ष

संगीत की दुनिया में उनका 8 सबसे सुरमयी दशक
92 साल की लता जी ने 36 भाषाओं में 50 हजार गाने गाये, जो किसी भी गायक के लिए रिकॉर्ड है। करीब एक हजार से ज्यादा फिल्मों में अपनी आवाज़ दी है। 1960 से 2000 तक का ऐसा दौर था जिसमें लता जी के आवाज़ के बिना फिल्मों को अधूरा माना जाता था। उनकी आवाज़ गानों के हिट होने की गारंटी हुआ करती थीं।
करीब 80 साल से संगीत की दुनिया में सक्रिय लता मंगेशकर का जन्म 28 सितम्बर 1929 को मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में हुआ था। 13 साल की छोटी उम्र में 1942 से उन्होंने गाना शुरू कर दिया था। लता जी के पिता पंडित दीनानाथ मंगेशकर संगीत की दुनिया और मराठी रंगमंच के जाने पहचाने नाम थे। उन्होंने ही लता जी को संगीत की शिक्षा दी थी। पांच भाई-बहनों में सबसे बड़ी लता जी की तीन बहनें आशा भोसले, उषा मंगेशकर और मीना मंगेशकर और भाई हृदयनाथ मंगेशकर हैं।

यह भी पढ़ें  समता पार्टी के संस्थापक और लोकप्रिय नेता श्री जार्ज फर्नान्डिस का जयंती राजकीय समारोह के रूप में स्थानीय सिटी पार्क और नगर भवन में मनाया गया

2001 में मिला था भारत रत्न
लता मंगेशकर को 2001 में संगीत की दुनिया में उनके योगदान के लिए भारत के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजा था। इससे पहले भी उन्हें कई सम्मान दिए गए जिसमे पद्म विभूषण, पद्म भूषण और दादा साहेब फाल्के सम्मान भी शामिल है। कम ही लोग जानते हैं कि लता मंगेशकर जी गायिका के साथ संगीतकार भी हैं और उनका अपना फिल्म प्रोडक्शन भी था, जिसके बैनर तले बनी फिल्म ‘लेकिन’ थी, इस फिल्म के लिए उन्हें बेस्ट गायिका का नेशनल अवॉर्ड भी मिला था। 61 साल की उम्र में गाने के लिए नेशनल अवार्ड जीतने वाली एकमात्र गायिका रही।

यह भी पढ़ें  भोजपुरी होली गीत 'डाली ना रंग पिया ललका' रिलीज

Ashok Ashq

Ashok ‘’Ashq’’, Working with Gaam Ghar News as a Co-Editor. Ashok is an all rounder, he can write articles on any beat whether it is entertainment, business, politics and sports, he can deal with it.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button