बिहारसमाचार

5 बच्चों की तालाब में डूबने से मौत

कैमूर जिले के करमचट थाना क्षेत्र के धवपोखर गांव की घटना

कैमूर : जिले के करमचट थाना क्षेत्र के धवपोखर गांव के पास सोमवार की दोपहर फकिराना तालाब में डूबने से एक ही परिवार के पांच बच्चों की मौत हो गई। इस घटना की सूचना मिलते ही जो ग्रामीण जहां जिस हाल में थे वह ताल की ओर दौड़ पड़े। ग्रामीणों ने हिम्मत जुटाकर गहरे तालाब में उतरे और बारी-बारी से पांचों बच्चों को बाहर निकाला। उन्हें देख परिवार की महिलाएं दहाड़ मारकर रोने लगीं। ग्रामीण व परिजन सभी बच्चों को लेकर कुदरा के निजी अस्पताल में ले गए, जहां के चिकित्सक ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। वह सभी पांच बच्चों की लाश लेकर गांव आ गए।

यह भी पढ़ें  एक समर्पित शिक्षक समर्थ साहित्यकार उपेन्द्र नारायण चौधरी "मधुप" जी का आकस्मिक निधन।

मृतकों में शिक्षक सुशील कुमार की तीन पुत्रियां अनुप्रिया कुमारी (12 वर्ष), अंशु प्रिया (10 वर्ष) , मधु प्रिया (8 वर्ष), शिक्षक के छोटे भाई अमरेंद्र कुमार की बेटी अपूर्वा सोनी (6 वर्ष), भगिना अमन कुमार (10 वर्ष) सासाराम थाना क्षेत्र के धनकाढ़ा के जोखू राम का पुत्र शामिल है।

ग्रामीणों की सूचना पर करमचट थानाध्यक्ष सुनीत कुमार सिंह पहुंचे। शवों का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भभुआ सदर अस्पताल वाहन से भिजवाया। सीओ ने इस घटना की जांच के लिए अंचल के नाजिर विकास कुमार को धवपोखर गांव में भेजा है, जो इसकी रिपोर्ट तैयार कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि आपदा प्रबंधन विभाग को यह रिपोर्ट सौंपी जाएगी, जिसके आधार पर पीड़ित परिजनों को सहायता राशि मिलेगी।

ग्रामीणों ने बताया कि शिक्षक सुशील की बहन विभा देवी खेत पर फसल देखने गई थी। बच्चे उसे देख उसके पीछे-पीछे चले गए। बच्चे ताल के पास खेलने लगे और विभा यानी मृत अमन की मां खेत में काम में व्यस्त थी। उसे पता नहीं चला कि बच्चे आए हैं। क्योंकि उसकी नजर बच्चों पर नहीं पड़ी थी। बच्चे उत्तर तरफ ताल के पास थे और विभा दक्षिण ओर खेत में।

यह भी पढ़ें  सहरसा जिला स्थापना दिवस पर जिलाधिकारी ने दीप प्रज्ज्वलित कर फहराया ध्वज

धवपोखर गांव से 700 मीटर दक्षिण फकिराना ताल की ओर गांव का युवक दीपक कुमार शौच करने के लिए गया था। उसकी नजर ताल के तट पर बैठकर रो रहे शिक्षक सुशील कुमार के छह वर्षीय बेटा अंकित कुमार पर पड़ी। दीपक ने उससे पूछा तो उसने बताया कि दीदी लोग ताल में डूब गई हैं, इसलिए रो रहा है। दीपक ने शोर मचाया तो खेत, गांव व घर में काम कर रहे लोग ताल की ओर दौड़ पड़े। फिर बच्चों को ग्रामीणों ने ताल से बाहर निकाला।

यह भी पढ़ें  ट्विटर का लोगो बदलकर मस्क ने किया X, बहुत जल्द होगे कई और बदलाव

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button