पटनाबिहारराजनीतिसमाचार

राबड़ी-मीसा-हेमा को मिली जमानत होगी 28 को सुनवाई

लैंड फॉर जॉब केस में लालू परिवार को बड़ी राहत

Patna : लैंड फॉर जॉब केस में आज दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट में बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और उनकी बेटियों मीसा भारती, हेमा यादव समेत कई आरोपियों की पेशी है। बुधवार की रात को ही विमान से राबड़ी देवी और मीसा भारती दिल्ली के लिए रवाना हो गई थी। हालांकि एयरपोर्ट पर मीडिया उन्होने कोई बातचीत नहीं की थी। दरअसल इस मामले में दिल्ली एक अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय के आरोप पत्र पर संज्ञान लेते हुए। राबड़ी, मीसा भारती समेत 9 लोगों को आज यानी 9 फरवरी को कोर्ट में पेश होने का आदेश दिया था। जिस पर आज सुनवाई होनी है। वहीं इस मामले से जुड़े कारोबारी अमित कात्याल पहले से ही ईडी की न्यायिक हिरासत में है।

यह भी पढ़ें  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जेडीयू के प्रमुख नेताओं के साथ की बैठक

इससे पहले नौकरी के बदले जमीन मामले में आरजेडी सुप्रीमो लालू यादव और बेटे तेजस्वी यादव ने ईडी मैराथन पूछताछ कर चुकी है। 29 जनवरी को ईडी की विशेष टीम ने पटना के गांधी मैदान इलाके में मौजूद जोनल कार्यालय में लालू यादव से करीब 10 घंटे तक पूछताछ की थी। लालू प्रसाद से पूछा गया कि कितने लोगों से जमीन लेकर रेलवे में किन पदों पर कहां-कहां नौकरी दी गई है। ईडी उनके खिलाफ राउज एवेन्यू कोर्ट में दायर 4751 पन्नों की चार्जशीट के अलावा ह्रदयानंद चौधरी के स्वीकृति बयान को भी साथ लेकर आई थी। जिसे दिखाकर भी सवाल पूछे गए।

और फिर 30 जनवरी को पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव से भी ईडी ने करीब साढ़े आठ घंटे तक पूछताछ की। ईडी ने तेजस्वी से 65 से ज्यादा सवाल पूछे। इनमें उनके नाम से दिल्ली एवं पटना में मौजूद संपत्ति से लेकर उनके निदेशक मंडल वाली निजी कंपनी में निवेश से जुड़े सवाल शामिल थे। अधिकतर सवालों पर तेजस्वी ने अनभिज्ञता जाहिर की थी।

यह भी पढ़ें  जनता से धोखा करने वाले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को जनता जरूर सबक सिखाएगी - सम्राट चौधरी

आपको बता दें, नौकरी के बदले जमीन मामले में यादव परिवार के एक कथित करीबी सहयोगी 49 साल के कात्याल, रेलवे कर्मचारी व कथित लाभार्थी ह्दयानंद चौधरी, दो फर्म ए के इंफोसिस्टम्स प्राइवेट लिमिटेड व एबी एक्सपोर्ट्स प्राइवेट लिमिटेड एवं निदेशक शारिकुल को आरोपपत्र में आरोपी बनाया गया है।

यह भी पढ़ें  मनरेगा में मजदूरों को काम दिलाने के लिए जुझारू आंदोलन की जरूरत - जीबछ पासवान

Gaam Ghar

Editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button