बिहारराजनीतिसमाचार

BJP विधायकों में भी टूट का खतरा ?

सभी MLA को पटना से बाहर 11 तारीख तक उलझा कर अपनी निगरानी में रखने की प्लानिंग है

Patna : बिहार के राजनीती में उथलपुथल चल रही है बता दे की NDA सरकार के फ्लोर टेस्ट से पहले विपक्षी दल कांग्रेस समेत सत्ता पक्ष के विधायकों में टूट की खबरें मिल रही हैं. कांग्रेस में टूट का डर ऐसे डराया कि विधायकों को हैदराबाद शिफ्ट कर दिया गया है। ऐसा नहीं कि सिर्फ कांग्रेस पार्टी ही डरी हुई है. नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू और भाजपा भी संभावित टूट की आशंका से डर गई है. इस वजह से दोनों दल अपने-अपने विधायकों पर नजर रखे हुए हैं. भाजपा तो कांग्रेस की राह पर चल पड़ी है. भारतीय जनता पार्टी नेतृत्व को अपने विधायकों में टूट की आशंका दिखने लगी है. लिहाजा विधायकों को पटना से बाहर ले जाने की तैयारी है. 11 फरवरी तक विधायकों को उलझा कर अपनी निगरानी में रखने की प्लानिंग है.

यह भी पढ़ें  महेश भट्ट ने "शांतला" को लेकर कह दी बड़ी बात...ओटीटी छोड़कर थियेटर की ओर कूच करेंगे लोग

आपको बता दे की भाजपा के विश्वस्त सूत्र बताते हैं कि नेतृत्व अपने विधायकों पर पूरी तरह से नजर रख रहा है. बुधवार को भोज के बहाने सभी विधायकों को पटना बुलाया गया. विधानमंडल दल के नेता सह डिप्टी सीएम सम्राट चौधरी के आवास पर भोज के बहाने सभी विधायकों को इकट्ठा किया गया. इसके बाद संगठन से जुड़े नेता सभी विधायकों का हाल-चाल लेते देखे गए. विधायकों की खूब अहमियत दी जा रही थी. एक और जो बड़ी खबर है वो यह कि सभी विधायकों को बोधगया ले जाने की तैयारी है. विधायकों से कहा गया है कि 10 फरवरी को बोधगया में प्रशिक्षण कार्यक्रम है, लिहाजा सभी को हर हाल में 9 तारीख की शाम तक बोधगया पहुंच जाना है. 10 को पूरे दिन ट्रेनिंग दी जाएगी. अगले दिन यानि 11 फरवरी को बोधगया से वापस लौटने को कहा गया है. बता दें, बिहार विधानसभा का सत्र 12 फरवरी से शुरू है. पहले दिन ही नई सरकार विश्वास मत हासिल करेगी. इसके पहले सत्ता पक्ष के विधायकों को पूरी तरह से एकजुट रखने की कोशिश जारी है.

जेडीयू विधायकों में टूट की खबरों को हर दल खारिज कर रहा है. नीतीश कुमार के खास मंत्रीश्रवण कुमार ने अपने दल जदयू के किसी विधायक के टूटने की खबर को बेबुनियाद बताया है. उन्होंने कहा कि जदयू का विधायक हमेशा ही सीएम नीतीश के साथ खड़ा है. जदयू का कोई भी एमएलए दाहिने-बाएं नहीं देखता. जदयू के सभी विधायक चट्टानी एकता के साथ नीतीश कुमार के साथ खड़े हैं. उन्होंने कहा कि हमारे विधायक न टूटते हैं और ना ही झुकते है.उन्होंने गुरुवार को दावा किया कि विधायकों को प्रलोभन दिया जा रहा हैं. साथ ही जो लोग इधर-उधर करने में लगे हैं उनकी पहचान हो गई है. ऐसे सभी लोगों पर कार्रवाई की जाएगी.

यह भी पढ़ें  नए मुखिया-सरपंच आज से लेंगे शपथ, इस बार अनूठा होगा समारोह.

पिछले कुछ दिनों से लगातार ऐसी चर्चा है कि जदयू के करीब एक दर्जन विधायकों को तोड़ने की कवायद चल रही है. कई विधायकों के फोन बंद होने या रीचेबल नहीं होने की भी खबरें चल रही हैं. इसी को लेकर अब श्रवण कुमार ने पूरे मामले में सफाई दी है. एक ओर उन्होंने विरोधी दलों को घेरा है तो दूसरी ओर ऐसे विधायकों को चेतावनी भी दी है कि जो कुछ खेला करने की सोच रहे हैं.

यह भी पढ़ें  मिथिला राज्य निर्माण संघर्ष समिति के स्थापना दिवस पर बेबिनार आयोजित किया गया।

Gaam Ghar

Editor

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button